गुटखा खाने के भयंकर नुकसान | जर्दा या तम्बाकू खाना कैसे छोड़ें

तम्बाकू का सेवन किसी भी रूप में करना खतरे से खाली नहीं होता. चाहे वो गुटखा हो, जर्दा हो या फिर पान मसाला. तम्बाकू के नुकसान आपके शरीर को ना सिर्फ बाहर से बल्कि अन्दर से भी जर्जर बना देते हैं. आज हम आपको गुटखा खाने के नुकसान बताने वाले हैं, क्योंकि हमारे देश की आबादी का एक बड़ा हिस्सा इस खतरनाक आदत की चपेट में है.

ऐसा नहीं है की लोग इसे छोड़ना नहीं चाहते. भारत में आपको लाखों ऐसे लोग मिल जायेंगे जो हर वक़्त सोचते रहते हैं की तम्बाकू कैसे छोड़ें या गुटखे की लत से छुटकारा कैसे पायें. क्योंकि वो खुद भी इनके Side Effects से परेशान हो चुके हैं. इस पोस्ट में हम आपको गुटखा, तम्बाकू छोड़ने के उपाय व् घरेलू नुस्खे बताएँगे जो आपके लिए जरूर सहायक होंगे.

किसी भी देश का भविष्य उसके युवाओं पर निर्भर करता है और हमारे देश युवा गलत संगत में पड़कर या फिर शौक शौक में गुटखा खाने की खतरनाक आदत के चंगुल में फंसता जा रहा है. हमारे देश का एक बड़ा हिस्सा तो ऐसा है जहाँ तम्बाकू और गुटखे का बेतहासा उपयोग किया जाता है भले ही आप उन्हें कितने ही गुटखा खाने के दुष्प्रभाव बता दें.

U.P, बिहार, M.P और छत्तीश्गढ़ कुछ ऐसी जगह हैं जहाँ के लोग गुटखे का Limit से भी ज्यादा प्रयोग करते हैं. हमारे देश में तम्बाकू निषेध दिवस मनाया जाता है लेकिन वो सिर्फ एक दिखावा है. तम्बाकू, ज़र्दा और गुटखे का सेवन करने वाले लोग धडल्ले से इनका इस्तेमाल करते हैं. एक बार इसकी आदत लग जाने पर इसे छोड़ना बहुत मुश्किल हो जाता है.

यहाँ तम्बाकू, जर्दे, खैनी, पान मसाला और गुटखे के नुकसान बताने का हमारा मकसद भी यही है. जैसा की हमने बताया की इसे छोड़ना मुश्किल है, तो हम लोगों को इसके नुकसानों  से अवगत करना चाहते हैं ताकि जो युवा अभी गुटखा नहीं खाते, वो इसे खाने के बारे में कभी सोचें भी ना. और जो लोग अभी गुटखा खा रहे हैं वो इसे छोड़ने के लिए प्रेरित हों.

खाना शुरू करने के कुछ साल बाद गुटखा कई लोगों के लिए गले की फांस बन जाता है. उन्हें तरह तरह की परेशानियां होने लगती है, उस समय आदमी इसे छोड़ने के बारे में विचार जरूर करता है. चलिए आपको बताते हैं तम्बाकू के नुकसान जो आपकी स्वास्थ्य को बुरी तरह से प्रभावित करते हैं.