जरुरत से ज्यादा खाने के नुकसान | Overeating Side Effects In Hindi

Overeating Side Effects In Hindi- इस लेख हम आपको बताने जा रहे हैं आवश्यकता से ज्यादा खाने के नुकसान और उससे होने वाले रोग और बीमारियाँ. कुछ लोगों की आदत बहुत ज्यादा खाने की होती है.

वो दिन भर कुछ बस कुछ न कुछ खाते रहते हैं. भले ही Limit से अधिक खाना खाने के नुकसान उन्हें परेशान करते रहें, पर उनकी ये बुरी आदत उनसे छूटती नहीं है.

खाना हमारी फितरत है, हर प्राणी को जीवित और स्वस्थ रहने के लिए खाना पड़ता है. लेकिन जरूरत से ज्यादा खाना यानी बहुत अधिक खाना हमारे स्वास्थ्य (Health) पर प्रतिकूल प्रभाव डालता है. इससे कई प्रकार के रोग हमारे शरीर को जकड लेते हैं. जब भी हमें स्वादिष्ट खाना खाने को मिलता है, हम उस पर टूट कर पड़ते हैं.

भूल जाते हैं ही हमें अपनी भूख और क्षमता के हिसाब से खाना चाहिए. उदाहरण के तौर पर जब भी हम किसी शादी या अन्य समारोह में जाते हैं तो वहां उपलब्ध स्वादिष्ट भोजन को देखकर हम अपने ऊपर Control नहीं रख पाते और बेहिसाब खाते हैं. कहने का मतलब Overeating के नुकसान हम पूरी तरह से Ignore कर देते हैं.

कभी कभार ऐसा करना चल जाता है, उससे ज्यादा परेशानी नहीं होती. लेकिन कई लोग वाकई बहुत ज्यादा खाते हैं. उठते बैठते बस खाते रहते हैं. यहाँ तक की खाना खाने के बाद भी कुछ ना कुछ खाते पीते रहते हैं, और ऐसा रोज करते हैं. ये आदत परेशानी का कारण बनती है.

हमारा शरीर एक मशीन की तरह है, और अगर किसी भी मशीन पर आप इतना ज्यादा दबाव देंगे तो उसमें कुछ न कुछ खराबी तो आएगी ही. आजकल की जनरेशन के बच्चों में खासकर ये परेशानी पायी जाती है. घर पर खाना खाने के बाद भी दूकान की चीज़ों के पीछे पड़े रहना उनकी आदत बन गयी है.

कभी चॉकलेट, कभी बिस्कुट, कभी कुरकुरे और कभी Cold Drinks. ये सब उन पर भारी पड़ रहा है और उनका शरीर बेडौल होता जा रहा है. आजकल के ज्यादातर बच्चों का शरीर आपको मोटा और थुलथुल ही दिखाई देगा. यही नहीं आगे चलकर उनको ज्यादा खाने से होने वाली बीमारियाँ अपने जाल में फंसा लेती हैं और उनका जीवन ख़राब कर देती हैं.

ऐसे में हमें सावधानी बरतने की जरूरत है, खुद के लिए भी और बच्चों के लिए भी. आज की हमारी पोस्ट Health Side Effects Of Excessive Eating In Hindi का एकमात्र मकसद यही है की आपको ज्यादा खाने से होने वाले नुकसान ज्ञात हो पायें.

आयुर्वेद के अनुसार हमें हमेशा अपनी भूख से थोडा कम ही खाना चाहिए, लेकिन हम तो पेट भर जाने के बाद भी कुछ न कुछ खाते रहते हैं. तो इसका मतलब हम आयुर्वेद के नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं. इसके अलावा ये भी बताया गया है की खाना केवल भूख लगने पर ही खाना चाहिए.

लेकिन हकीकत ये है की हमें तो बस कुछ भी स्वादिष्ट खाने की चीज़ दिखनी चाहिए, हम तुरंत खा लेंगे. अगर आपको एक स्वस्थ जीवन जीना है तो आपको अपनी इस आदत में सुधार करना होगा.