लिंगराज मंदिर के बारे में रोचक तथ्य | Lingaraja Temple Facts.

1.लिंगराज मंदिर भुवनेश्वर में सबसे पुराने मंदिरों में से एक है।

2.लिंगराज मंदिर भगवान शिव का मंदिर है यह मंदिर भुवनेश्वर शहर का सबसे प्रमुख स्थान है।

3.देश-विदेश के लोगो के लिए यह आकर्सण का केंद्र है।

4.मंदिर का केंद्रीय टावर 180 फीट (55 मीटर) लंबा है। लिंगराज मंदिर भुवनेश्वर का सबसे बड़ा मंदिर है।

5.मंदिर परिसर में 50 अन्य मंदिर हैं और ये पुरा मंदिर परिसर एक बड़ी यौगिक दीवार से घिरा हुआ है।

6.मंदिर को चार हिस्सों में बांटा गया है, गर्भ गृह, यज्ञ शाला, भोग मंडप और नाट्य शाला।

7.लिंगराज मंदिर लगभग 150 मीटर वर्ग में फैला हुआ है| मंदिर के निकट एक तालाब भी स्थित है।

8.यह मंदिर सोमावमसी राजवंश के राजाओं द्वारा बनाया गया था।

9.मंदिर का वर्तमान स्वरूप 1090-1104 में बना लेकिन इसके कुछ हिस्से 1400 वर्ष से भी अधिक पुराने हैं। इस मंदिर का वर्णन छठी शताब्दी के लेखों में भी आता है।

10.मंदिर में औसतन 6,000 लोग दर्शन के लिए आते हैं 2012 में शिवरात्रि त्यौहार के दौरान मंदिर 200,000 लोग दर्शन के लिए आये थे।