शतावरी के बेहतरीन फायदे और Uses की पूरी जानकारी

जब बात आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों या दवाओं की होती है तो अश्वगंधा के बाद शतावरी दूसरी सबसे पावरफुल और इफेक्टिव दवा है. आयुर्वेद में इतने शतावरी के इतने लाभ बताये गए हैं की इन्हें गिनना मुश्किल हो जाता है.

शतावरी महिलाओं के लिए बहुत ही ख़ास दवा है, यह उनके प्रजनन तंत्र को मजबूत बनाती है. कई बार तो यह बांझपन के इलाज़ में भी बहुत सहायक होती है. इसके अलावा यह उनके मासिक चक्र को नियमित करने का काम करती है.

गर्भावस्था में यह महिला और शिशु दोनों को किसी भी प्रकार के इन्फेक्शन से बचाने का काम करती है. शतावरी उनको योनी के संक्रमण से भी बचाती है.

शतावरी हमारी पाचन क्रिया को सुधारने का काम करती है, इसमें पाए जाने वाला इनुलिन हमारे शरीर में अच्छे बेक्टेरिया का पोषण करता है जो की पेट को सही रखने का काम करता है

यह हमारी आँतों के लिए एक बहुत ही अच्छी औषधि है और उनको मजबूत बनाने का काम करती है. कहने का मतलब ये है की यह पूरी तरह से हमारे पाचन तंत्र को सपोर्ट करती है.

रोग प्रतिरोधक क्षमता हमारे लिए बहुत अहम् होती है, शतावरी इसे बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है. इसमें बहुत ही लाभकारी रोग प्रतिरोधक गुण पाए जाते हैं. इसका रोज कुछ मात्रा में सेवन करने से आपका इम्यून सिस्टम बहुत मज़बूत हो जाता है और छोटे मोटे रोग तो आपको लगते ही नहीं हैं.

आजकल हर तीसरे चौथे आदमी को मधुमेह की समस्या से दो चार होना पड़ रहा है. शतावरी शूगर कम करने में भी आपकी सहायता कर सकती है. यह टाइप-2 डायबिटीज को कण्ट्रोल में करने का माद्दा रखती है.

शतावरी में क्रोमियम पाया जाता है जो की आपके खून में शूगर की मात्रा को कम करता रहता है जिससे आपकी शूगर कण्ट्रोल में आने लगती है, Shatavari Ke Benefits आपको कम शूगर लेवल के रूप में मिलने लगते हैं.

शतावरी आपके दिल के लिए बहुत फायदेमंद है, यह आपके दिल को मज़बूत बनाने का काम करती है. इसमें विटामिन बी अच्छी मात्रा में होता है जो होमेसिस्तीन को कण्ट्रोल करने का काम करता है.

यही होमोसिस्टीन की मात्रा बहुत ज्यादा बढ़ जाती है तो यह हमारे दिल को नुकसान पहुंचा सकता है. लेकिन शतावरी इस पर हमेशा अपना नियंत्रण बनाये रखती है.

शतावरी की तासीर ठंडी होती है और यह एक बेहतरीन मूत्रवर्धक का काम करती है. इससे आपके मूत्राशय में जितनी भी गंदगी होती है वो जल्दी जल्दी बाहर निकलती रहती है.

इसके अलावा यदि किसी को मूत्राशय में पथरी वगैरह है तो शतावरी उसको भी पिघलाकर बाहर निकालने का काम करती है. यह मूत्राशय को किसी भी प्रकार के संक्रमण से बचाने का काम करती है.

इसीलिए अगर आप अपना वजन प्राकर्तिक तरीके से घटाना चाहते हैं तो व्यायाम के साथ साथ थोडा शतावरी का सेवन भी शुरू कर दें. आपको जल्दी ही अच्छा रिजल्ट मिलेगा.

शतावरी महिला और पुरुष दोनों की यौन समस्याएं भी दूर करती है, यह महिला और पुरुष दोनों में कामेच्छा को बढ़ाती है. पुरुष के लिए ये एक बेहतरीन टॉनिक की तरह है.

यह पुरुष में sperms का प्रोडक्शन बढ़ाती है और उनकी क्वालिटी में भी सुधार करती है. यह तनाव को कम करती है जिससे आधी यौन समस्याएं तो वैसे ही दूर हो जाती हैं, क्योंकि पुरुष की ज्यादातर यौन समस्याओं का कारण तनाव ही होता है

Ayurvedic Medicine Shatavari Ke Fayde आपका माइग्रेन दूर करेंगे, यदि आपको हमेशा सिर दर्द की समस्या रहती है यानी आप माइग्रेन के शिकार हैं तो शतावरी इसमें भी आपकी मदद कर सकती है.

हम आपको पहले ही बता चुके हैं की शतावरी तनाव कम करती है और आपके दिमाग को हल्का करती है. रोज सुबह शाम कुछ समय के लिए किया गया शतावरी का सेवन आपको इस समस्या से छुटकारा दिला सकता है.

यही आपकी त्वचा बिलकुल फीकी पड़ चुकी है और उस पर कोई चमक दमक नहीं बची है तो आप कुछ दिन के लिए शतावरी का सेवन करके देखें. आपको कुछ समय बाद ही अहसास हो जाएगा की आपकी त्वचा में जान आ गयी है और वो चमकने लगी है.

ऐसा इसलिए होता है क्योंकि एक तो इसमें मौजूद विटामिन और मिनरल्स त्वचा का पोषण करते हैं, दूसरा ये खून को भी साफ़ कर देती है. अब बात करते हैं Shatavari के Uses यानी इस्तेमाल करने के तरीके की.

तो हम आपको बता दें की यदि आपने शतावरी चूर्ण ख़रीदा है तो आप हर रोज सुबह और शाम 2-3 ग्राम चूर्ण पानी या दूध में मिलाकर ले सकते हैं खाना खाने के आधे घंटे बाद. अगर आपने शतावरी के कैप्सूल्स ख़रीदे हैं तो आप पाएंगे की उसमें 1 कैप्सूल 500 mg का है. आप कम से कम 1 कैप्सूल दिन में 2 बार अवश्य लें.